प्रभु ईसा का बपतिस्मा

सन्त मारकुस के अनुसार पवित्र सुसमाचार
01:12-15 

इसके बाद आत्मा ईसा को निर्जन प्रदेश ले चला। वे चालीस दिन वहाँ रहे और शैतान ने उनकी परीक्षा ली। वे बनैले पशुओं के साथ रहते थे और स्वर्गदूत उनकी सेवा-परिचर्या करते थे। योहन के गिरफ़्तार हो जाने के बाद ईसा गलीलिया आये और यह कहते हुए ईश्वर के सुसमाचार का प्रचार करते रहे, "समय पूरा हो चुका है। ईश्वर का राज्य निकट आ गया है। पश्चाताप करो और सुसमाचार में विश्वास करो।"

Add new comment

5 + 5 =