ईसा के यथार्थ सम्बन्धी

सन्त मारकुस के अनुसार पवित्र सुसमाचार

03:31-35

 

उस समय ईसा की माता और भाई आये। उन्होंने घर के बाहर से उन्हें बुला भेजा।

लोग ईसा के चारों ओर बैठे हुए थे। उन्होंने उन से कहा, "देखिए, आपकी माता और आपके भाई-बहनें, बाहर हैं। वे आप को खोज रहे हैं।"

ईसा ने उत्तर दिया, ’कौन है मेरी माता, कौन हैं मेरे भाई?"

उन्होंने अपने चारों ओर बैठे हुए लोगों पर दृष्टि दौड़ायी और कहा, "ये हैं मेरी माता और मेरे भाई।

जो ईश्वर की इच्छा पूरी करता है, वही है मेरा भाई, मेरी बहन और मेरी माता।"

Add new comment

2 + 7 =