स्वर्गदूतो के सम्मलेन का आयोजन किया गया। 

युवा एवं बुलाहट आयोग के तत्वाधान में इंदौर कैथोलिक धर्मप्रांत ने संत पॉल स्कूल इंदौर के परिसर में एक दिवसीय ‘स्वर्गदूतो का सम्मलेन’ कार्यक्रम का आयोजन किया। यह सम्मलेन इंदौर धर्मप्रान्त के प्रथम परमप्रसाद संस्कार ग्रहण करने वाले बच्चों के लिए था | लगभग 130 प्रतिभागियों ने इंदौर धर्मप्रांत की विभिन्न पल्लियों - नंदनगर, पुष्पनगर, सुखलिया, पालदा,  और कैथिड्रल - रेड चर्च से भाग लिया। कार्यक्रम में 15 शिक्षक और 15 स्वयंसेवक, धर्म बहने व अनुप्राणदाता मौजूद थे। महामारी-19 के लंबे अंतराल के बाद नन्हें बच्चों के लिए यह दूसरा सम्मलेन था। कार्यक्रम का उद्देश्य प्रथम परमप्रसाद संस्कार ग्रहण करने वाले बच्चों के लिए एक दिवसीय सम्मलेन का आयोजन करना था | सम्मेलन में आत्मदर्शन टीवी से सिस्टर रोस के द्वारा बच्चों को प्रशिक्षित किया गया था।
निर्देशक फादर सुमित ताहिर ने उपस्थित प्रथम परमप्रसाद संस्कार ग्रहण करने वाले सभी बच्चों को बधाईयाँ दी एवं कहा की यह संस्कार हमारे जीवन के लिए महत्वपूर्ण संस्कार है।  यह संस्कार पवित्र संस्कार है| आगे उन्होंने बताया कि हम प्रेमपूर्ण गतिविधियों, कार्यक्रमों के माध्यम से बच्चों एवं युवाओं को सामाजिक और नैतिक मूल्य सिखाना चाहते हैं। मुझे परिसर में सभी बच्चों को सफ़ेद पोषक में देख कर ऐसा प्रतीत हो रहा था, मानो हम फरिश्तों के बीच में हैं।
आयोजन समिति के सदस्यों में से एक मथियस केलवा ने कहा कि हम बच्चों को प्रवचन और बातचीत के माध्यम से नहीं पढ़ा सकते हैं। इसलिए हम उन्हें मनोरंजक गतिविधियों के माध्यम से सामाजिक और नैतिक मूल्यों की शिक्षा देते हैं। हम भी उनके साथ खेलते हैं और बहुत ही अनुकूल और घरेलू माहौल बनाते हैं ताकि वे अच्छी तरह से आनंद लें और अधिकतम सीखें। बच्चों का मार्गदर्शन करने के साथ साथ, मैं खुद उनसे बहुत कुछ नया सीखता हूं।
पुष्पनगर पल्ली के भाविका शेखावत ने कहा कि यह दिन मेरे लिए यादगार दिन था। मैने अपने जीवन में प्रभु येशु को पवित्र रोटी के रूप में ग्रहण किया है| प्रभु के साथ में रह है मुझे अच्छा महसूस हो रहा है | कार्यक्रम के आयोजन के लिए में फा. सुमित का धन्यवाद अदा करती हूँ | सम्मलेन का समापन मध्यप्रदेश के युवा अध्यक्ष एड्रिन पॉल के द्वारा सभी का आभार व्यक्त कर किया गया। 

Add new comment

11 + 9 =