आशा और सेवा की ज्योति जलाती है शिक्षा, पोप फ्रांसिस। 

पोप फ्राँसिस ने मिलान स्थित सेक्रेड हार्ट काथलिक विश्वविद्यालय को एक वीडियो संदेश भेजा और विभिन्न आधुनिक संकटों को दूर करने के लिए "विचारों के नए मॉडल" का आह्वान किया।
मिलान के सेक्रेड हार्ट काथलिक विश्वविद्यालय ने रविवार को यूरोपीय आयोग के अध्यक्ष उर्सुला वॉन डेर लेयेन की उपस्थिति में अपने 2021/22 शैक्षणिक वर्ष की शुरुआत की।
इस वर्ष विश्वविद्यालय के 100वीं वर्षगांठ के अवसर पर समारोह की शुरुआत मिलान के संत अम्ब्रोस महागिरजाघर में महाधर्माध्यक्ष मारियो डेलपिनी की अध्यक्षता में पवित्र मिस्सा समारोह के साथ हुई।
शत वर्षीय समारोह में सहभागी होते हुए पोप फ्राँसिस ने संस्थान के प्रोफेसरों और छात्रों को वीडियो संदेश भेजा।
अपने वीडियो संदेश में, पोप फ्राँसिस ने फादर अगुस्टिनो जेमेली द्वारा स्थापित संस्थान की शताब्दी शैक्षणिक वर्ष की शुरुआत पर प्रोफेसरों और छात्रों का "हार्दिक अभिवादन" किया।
पोप फ्राँसिस ने इस बात पर विचार किया कि संस्थान को "अग्नि, आशा और सेवा" द्वारा चित्रित किया जा सकता है। अग्नि की लौ के साथ शुरू करते हुए, संत पापा फ्राँसिस ने कहा कि विश्वविद्यालय की लौ को हजारों पूर्व छात्रों द्वारा पीढ़ी दर पीढ़ी ले जाया गया, वे इस बात को समझ गए थे कि "शिक्षा प्राप्त करना केवल खाली कंटेनरों को भरना नहीं, बल्कि आग की लौ को प्रज्वलित करना है।"
"विद्यार्थी जो कुछ भी जानता है उसे प्रसारित करने से पहले,उसके अंदर जो है उसे साझा करके लौ जलाता है। यह संपर्क की बदौलत होता है।" संत पापा ने कहा कि एक विश्वविद्यालय लोगों को एक साथ : "एक स्थान, एक समय, एक आत्मा" की ओर लाता है।
पोप फ्राँसिस ने कहा कि सेक्रेड हार्ट विश्वविद्यालय भी "आशा" के गुण को दर्शाता है, क्योंकि यह एकजुटता पर आधारित एक अभिन्न शिक्षा प्रदान करता है।
पोप फ्राँसिस ने कहा, "शिक्षा सभी संबंधों से ऊपर है, शिक्षकों और छात्रों के बीच संबंध और फिर आपस में छात्रों के बीच संबंध : एक समुदाय जो वास्तविकता और दूसरों के प्रति खुला है।"
उन्होंने कहा कि शिक्षकों और छात्रों के बीच का संबंध "वर्तमान और भविष्य के तनाव में है" और वे एक साथ "सोचने, योजना बनाने और हमारे भावी आम घर के क्षितिज की ओर कार्य करने के लिए बुलाये गये है, जो आज की ठोस वास्तविकता से शुरू होता है।"
उन्होंने कहा, "आशा  का अर्थ है भविष्य पर दांव लगाना और उन आशंकाओं पर काबू पाना जो हमें पीछे खींचती हैं। अपनी आशा को चोरी न होने दें! और अपने आप को व्यक्तिवाद के वायरस से दूर रखें।" उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय व्यक्तिवाद के वायरस के खिलाफ "एंटीबॉडी" विकसित करने के लिए एक अच्छी जगह है।
इसके बाद पोप फ्राँसिस ने संस्थान की ‘सेवा’ पर जोर देते हुए कहा कि सेक्रेड हार्ट विश्वविद्यालय अक्सर कलीसिया और समाज की सेवा के प्रति अपनी निष्ठा दिखाई है। इसके कर्मचारियों, शिक्षकों और शोधकर्ताओं का कार्य, सेवा की भावना के साथ-साथ, छात्रों का दैनिक प्रयास "साझा क्षितिज की ओर" एक साथ चलने का साक्ष्य देता है।
इस संगीत कार्यक्रम में विश्वविद्यालय के प्रत्येक घटक की महत्वपूर्ण भूमिका है। "आप में से प्रत्येक के दैनिक प्रयास के बिना, यह आम परियोजना कमजोर हो जाएगी और कुछ चीज की कमी रह जाएगी, जैसे कि एक ऑर्केस्ट्रा में अपने स्वर या एक टोन की कमी होती है, भले ही वो कम महत्वपूर्ण लग सकती है।"
पोप फ्राँसिस ने अपने वीडियो संदेश को समाप्त करते हुए सेक्रेड हार्ट कथलिक विश्वविद्यालय के सभी सदस्यों से सुसमाचार के प्रति वफादार रहकर सेवा की विशिष्ट भावना बनाए रखने का आग्रह किया गया।
"प्रभु येसु मसीह, ईश्वरीय ज्ञान होने के बावजूद – दूसरों की सेवा में अपने को दीन हीन बनाया। यही है क्रूस का ज्ञान। ऐसा करते हुए, उसने ईश्वर के प्रेम की सच्चाई की गवाही दी और उस राजा ने हमें सिखाया कि सेवा करना ही राज्य करना है।”
पोप फ्राँसिस ने आशा व्यक्त की कि विश्वविद्यालय इसी सेवा भावना में गहरी सांस ले और अपने शैक्षिक मिशन में साहसपूर्वक क्षितिज की ओर देखे।

Add new comment

2 + 6 =