युवा पीढ़ी के लिए मसीह का साक्षी है धन्य कार्लो !

शनिवार को असीसी में इटली के किशोर कार्लो अकूतिस को धन्य घोषित किया गया। युवा लोगों को संत पापा फ्रांसिस ने धन्य कार्लो को पवित्रता के मॉडल के रूप में देखने के लिए आमंत्रित किया। उन्होंने काथलिकों से आग्रह किया कि वे ‘आवश्यकता में कलीसिया की सहायता’ के नेतृत्व में एक रोज़री अभियान में भाग लें।
शनिवार को इटली के असीसी शहर में कार्डिनल अगुस्तीनो वलिनी की अध्यक्षता में पवित्र मिस्सा समारोह के दौरान कार्लो अकूतिस को धन्य घोषित किया गया।

धन्य कार्लो अकूतिस:- संत पापा फ्राँसिस ने रविवार को संत पेत्रुस महागिरजाघर के प्रांगण में उपस्थित विश्वासियों के साथ देवदूत प्रार्थना का पाठ किया। संत पापा ने 15 वर्षीय धन्य कार्लो अकूतिस को "युखरिस्ट से प्यार करने वाला युवक" कहा।

संत पापा ने कहा, कि धन्य कार्लो ने आरामदायक आसन पर बैठकर यूँही समय नहीं बिताया," "उसने अपने समय की जरूरतों को समझ लिया था, क्योंकि उसने मसीह का चेहरा सबसे कमजोर और जरुरतमंदों में देखा था।"  धन्य कार्लो अकूतिस का उदाहरण युवा लोगों को दर्शाता है कि "सच्ची खुशी ईश्वर को पहले स्थान पर रखने और हमारे भाइयों और बहनों में उनकी सेवा करने में मिलती है।"

शांति हेतु प्रार्थना करते बच्चे :- संत पापा फ्राँसिस परमधर्मपीठीय संस्थान "एड टू द चर्च इन नीड" ‘आवश्यकता में कलीसिया की सहायता’ द्वारा शुरु किये जाने वाले एक पहल को बढावा देते हुए कहा, काथलिक सहायता संगठन, जो सताए गए ख्रीस्तियों की सहायता करती है, 18 अक्टूबर, रविवार को एक कार्यक्रम की मेजबानी कर रही है, जिसे "रोज़री प्रार्थना करने वाले दस लाख बच्चे" कहा गया है।

Add new comment

1 + 17 =