प्राधिधर्माध्यक्ष किरिल से पोप ˸ हम यूक्रेन के लिए शांति-निर्माता बनें

पोप फ्रांसिस ने रूसी ऑर्थोडोक्स कलीसिया के प्राधिधर्माध्यक्ष किरिल को पास्का महापर्व की शुभकामनाएँ दी और यूक्रेन के लोगों के लिए प्रार्थना की जो एक नया सबेरा का इंतजार कर रहे हैं जो युद्ध के अंधकार को दूर कर देगा।
पोप ने पत्र में लिखा, "प्यारे भाई, पवित्र आत्मा हमारे हृदय को परिवर्तित कर दे और हमें सच्चे शांति –निर्माता बना दे, खासकर, युद्धग्रस्त यूक्रेन के लिए, ताकि ख्रीस्त में मौत से जीवन की ओर पार होने का पास्का यूक्रेन के लोगों के लिए वास्तविक बन जाए जो एक नयी सुबह की कामना कर रहे हैं जो युद्ध के अंधकार को दूर कर देगा।"
पोप फ्राँसिस ने रूसी कलीसिया के प्राधिधर्माध्यक्ष किरिल को यह पत्र पास्का महापर्व के अवसर पर लिखा जिन्होंने जुलियन कैलेंडर के अनुसार 24 अप्रेल को पास्का पर्व मनाया।
पास्का पर्व की शुभकामनाओं के साथ प्रेषित पोप के पत्र को अन्य पूर्वी कलीसियाओं के लिए भी भेजा गया जिसे मोस्को के प्राधिधर्माध्यक्ष की वेबसाईट में प्रकाशित किया गया है।
पोप ने कहा कि मानवता इस समय मानव परिवार की पीड़ा का भार महसूस कर रहा है जो हिंसा, युद्ध और विभिन्न प्रकार के अन्याय से कुचला गया है।"
"इन पीड़ाओं के बावजूद, हम अब भी कृतज्ञ हृदय से उस प्रभु की ओर देखते हैं जिसने हमारे संसार की सारी बुराई और पीड़ा अपने ऊपर ले ली है।”
"ख्रीस्त की मृत्यु एक नये जीवन की शुरूआत और पाप के बंधन से मुक्ति है तथा पास्का के आनन्द का अवसर, जो अन्धकार की छाया से लेकर ईश्वर के राज्य के प्रकाश का सारा मार्ग प्रशस्त करता है।”  
पोप ने पूर्वी कलीसियाओं के प्राधिधर्माध्यक्षों को निमंत्रण दिया है कि हम एक दूसरे के लिए प्रार्थना करें तथा पुनर्जीवित ख्रीस्त एवं कलीसिया का मुक्ति के विश्वव्यापी संस्कार के रूप में एक विश्वासनीय साक्ष्य प्रकट करें।" इस तरह सभी लोग, पवित्र आत्मा में न्याय, शांति और आनन्द के राज्य में प्रवेश कर पायेंगे।  
पोप फ्रांसिस ने 16 मार्च को प्राधिधर्माध्यक्ष से सीधे वीडियो कॉल के द्वारा बातचीत की थी जिसमें उन्होंने यूक्रेन में युद्ध और शांति को बढ़ावा देने हेतु ख्रीस्तियों की भूमिका पर बातें की थी।
वाटिकन प्रेस कार्यालय के निदेशक मात्तेओ ब्रूनी के अनुसार पोप फ्रांसिस ने रूसी ऑर्थोडॉर्स कलीसिया के प्राधिधर्माध्यक्ष से आग्रह किया था कि यूक्रेन में युद्ध की आग को बुझाने में मदद दें चूँकि सैनिकों एवं नागरिकों को इसकी ऊंची कीमत चुकानी पड़ती है जो बम के नीचे मर रहे हैं।  
पोप ने कहा था कि कलीसिया को राजनीतिक भाषा का नहीं बल्कि येसु की भाषा का प्रयोग करना चाहिए।
शुक्रवार को अर्जेंटीना के समाचार पत्र ला नाचिओन को दिए एक साक्षात्कार में पोप फ्रांसिस ने प्रकट किया था कि वे प्राधिधर्माध्यक्ष किरिल के साथ जून में मिलनेवाले थे किन्तु मुलाकात को स्थगित करना पड़ा।
उन्होंने कहा, "मुझे खेद है कि वाटिकन को प्राधिधर्माध्यक्ष किरिल के साथ मुलाकात को दूसरी बार स्थगित करना पड़ा जो जून में येरूसालेम में होनेवाला था क्योंकि हमारी कूटनीति ने कहा कि इस समय हमारे बीच बैठक से अधिक भ्रम हो सकता है।"
पोप फ्राँसिस एवं प्राधिधर्माध्यक्ष ने क्यूबा के हवाना में 2016 में व्यक्तिगत मुलाकात की थी एवं एक संयुक्त दस्तावेज पर हस्ताक्षर किया था। 

Add new comment

11 + 1 =