पोप फ्राँसिस ने यूक्रेन में हथियारों को रोकने और युद्ध समाप्ति की अपनी अपील की

पोप फ्राँसिस ने एक बार फिर यूक्रेन में हथियारों के रोकने और युद्ध समाप्ति की अपनी अपील को नवीनीकृत किया। यूक्रेनी शहर बुचा कीव से कुछ किलोमीटर दूर है, जहां से सड़कों पर नागरिकों की लाशों की तस्वीरें और जानकारी प्रसारित की गई है। पोप ने एक झंडा दिखाया जो बुका से आया है और मंच पर युक्रेनी बच्चों एवं माताओं के एक समूह का स्वागत किया जो यूक्रेन से कल रोम पहुंचे।
पोप ने बुधवारीय आम दर्शन समारोह के अंत में कहा कि यूक्रेन में युद्ध के बारे में हाल की खबरें, राहत और आशा लाने के बजाय, बुचा नरसंहार जैसे नए अत्याचारों की गवाही देती हैं। यह नागरिकों, निहत्थे महिलाओं और बच्चों के खिलाफ भीषण क्रूर अत्याचार है। वे पीड़ित हैं जिनका निर्दोष खून स्वर्ग से रोता है और भीख माँगता है: “यह युद्ध बंद करो! हथियारों को शांत करो! मौत और विनाश को बोना बंद करो!” आइए, इसके लिए हम एक साथ प्रार्थना करें। पोप के साथ सभागार में उपस्थित सभी विश्वासियों ने कुछ देर मौन होकर प्रार्थना की।
इसके बाद कुछ यूक्रेनी बच्चे और माताएँ मंच पर युक्रेन का झंडा लिये संत पापा के करीब आते हैं। पोप ने कहा, ये कल बुका से मेरे लिए यह झंडा लेकर आए। यह झंडा उस युद्ध पस्त शहर बुका से आता है। हमारे साथ यहां कुछ यूक्रेनी बच्चे भी हैं। आइए, हम उनका अभिवादन करें और उनके साथ मिलकर प्रार्थना करें। सभागार के सभी विश्वासियों ने ताली बजाते हुए उनका स्वागत किया।
पोप ने उन सभी बच्चों के लिए ईस्टर अंडा चाकलेट उपहार में दिया। पोप ने कहा कि इन बच्चों को भागकर एक अनजान भूमि [विदेश] में आना पड़ा। यह युद्ध के फलों में से एक है। आइये, हम यूक्रेन के लोगों को कभी न भूले। क्योंकि युद्ध के कारण अपनी जमीन को छोड़ना बहुत मुश्किल है।
पोप फ्राँसिस ने संत पापा पॉल षष्टम सभागार में मौजूद पोलैंड विश्वासियों और मीडिया के माध्यम से जुड़े पोलैंड के लोगों को यूक्रेनी शरणार्थियों को दिखाए गए स्वागत की भावना के लिए धन्यवाद दिया। नवीनतम अनुमानों के अनुसार लगभग तीन मिलियन यूक्रेनियों का पोलैंड ने स्वागत किया है। पोप कहते हैं, "आपने हमारे यूक्रेनी भाइयों के प्रति असाधारण और अनुकरणीय उदारता दिखाई है, जिनके लिए आपने अपने दिल और घरों के दरवाजे खोल दिए हैं।" अंत में पोप ने आशीर्वाद देते हुए कहा, "ईश्वर आपकी इस एकजुटता के लिए आपकी मातृभूमि को आशीर्वाद दें और आपको अपना चेहरा दिखाएं।"
बुका, एक उपनगरीय शहर जो कीव के उत्तर-पश्चिम में स्थित है, 27 फरवरी से 31 मार्च तक रूसी सेना द्वारा कब्जा कर लिया गया था। अब रुसी सैनिक क्षेत्र से वापस चले गये हैं।
जैसे ही यूक्रेनी सैनिकों ने अंतर्राष्ट्रीय प्रेस के सदस्यों के साथ शहर में प्रवेश किया, तो सर्वनाश जैसे दृश्य निहत्थे नागरिकों की निष्पादन-शैली की हत्याओं के साक्ष्य के साथ-साथ एक साथ ढेर जलाए गए शव उभरने लगे। कुछ शवों के हाथ उनकी पीठ के पीछे बंधे थे और उनके सिर पर बंदूक की गोली के घाव थे।
बुका जो कभी मध्यवर्गीय उपनगर था, अब यातना और संक्षिप्त हत्याओं का एक भयानक दृश्य बन गया है, शहर के मेयर ने कहा कि 320 से अधिक नागरिकों की हत्या कर दी गई है। एक सामूहिक कब्र भी मिली है, जिसमें 150 से अधिक शव हो सकते हैं। सैटेलाइट इमेज से पता चलता है कि कई अन्य लाशें हफ्तों से सड़कों पर पड़ी हैं। बुका नरसंहार के जवाब में, पश्चिमी सरकारों ने रूस पर प्रतिबंध लगा दिए हैं,  परंतु रुस दावा करता है कि नरसंहार एक धोखा है।

Add new comment

1 + 11 =