पोप फ्राँसिस जुलाई में कनाडा की यात्रा करेंगे

पोप फ्रांसिस 24 से 30 जुलाई तक कनाडा की यात्रा करेंगे और एडमोंटन, क्यूबेक और इकालुइट शहरों का दौरा करेंगे। वाटिरकन प्रेस कार्यालय ने शुक्रवार को घोषणा की कि नागर और कलीसिया के अधिकारियों के साथ-साथ, मूल समुदायों के निमंत्रण स्वीकार करते हुए संत पापा फ्राँसिस 24 से 30 जुलाई तक कनाडा की यात्रा करेंगे। आगामी जुलाई की यात्रा में वे एडमोंटन, क्यूबेक और इकालुइट के शहरों का दौरा करेंगे।
प्रेस कार्यालय के बयान में कहा गया है कि आने वाले हफ्तों में संत पापा की कनाडा यात्रा के बारे में और जानकारी उपलब्ध कराई जाएगी।
इस नवीनतम घोषणा से पहले, पोप फ्रांसिस ने हाल के सप्ताहों में वाटिकन में कनाडा के मूल निवासियों के कई प्रतिनिधिमंडलों के साथ कई बैठकें की हैं।
पोप ने 28 मार्च को मेटिस और इनुइट के प्रतिनिधिमंडलों के साथ और 31 मार्च को प्रथम राष्ट्र के प्रतिनिधिमंडल के साथ मुलाकात की। उसके बाद उन्होंने 1 अप्रैल को कनाडा धर्माध्यक्षीय सम्मेलन (सीसीसीबी) के प्रतिनिधियों के साथ तीनों प्रतिनिधिमंडलों का एक साथ स्वागत किया।
इन बैठकों में पोप ने "यातना से बचे लोगों द्वारा साझा की गई दर्दनाक कहानियों को सुना।  और आज तक मूल निवासियों द्वारा झेले जा रहे आघात और पीड़ा से रुबरु हुए।
विशेष रूप से पिछले साल कमलूप्स इंडियन अवासीय स्कूल में सैकड़ों मूलवासी विद्यार्थियों के शवों के साथ सामूहिक कब्रों की खोज के बाद समाचार सामने आया।
इस खोज ने एक क्रूर अतीत के प्रतीक को चिह्नित किया, जिसने 1880 से 20वीं शताब्दी के अंतिम दशकों तक काथलिक संगठनों द्वारा संचालित सरकारी वित्त पोषित संस्थानों को मूल समुदाय के युवाओं को शिक्षित और परिवर्तित करने का प्रयास किया था।
पोप फ्राँसिस ने उस भूमिका के लिए अपना आक्रोश और शर्म व्यक्त की, "जिस भूमिका के लिए कई काथलिकों, विशेष रूप से शैक्षिक जिम्मेदारियों वाले लोगों ने आपको [मूल निवासियों] को चोट पहुंचाने वाली इन सभी चीजों द्वारा आपको घायल किया है। आपकी पहचान, आपकी संस्कृति और यहां तक कि आपके आध्यात्मिक मूल्यों का सम्मान नहीं किया।"
उस अवसर पर, पोप ने यह भी कहा कि वे उनके शब्दों और साक्ष्यों से समृद्ध हुए हैं और वे उनकी जन्मभूमि, जहाँ उनके परिवार रहते हैं, का दौरा करके उनसे फिर से मिलने कर प्रसन्न होंगे।
एक अलग बयान में, कनाडा के धर्माध्यक्षीय सम्मेलन के अध्यक्ष धर्माध्यक्ष रेमंड पॉइसन ने देश के धर्माध्यक्षों की ओर से पोप की यात्रा की औपचारिक पुष्टि का स्वागत किया।
धर्माध्यक्ष पॉइसन ने कहा, "हम बेहद आभारी हैं कि संत पापा ने इस भूमि के मूल निवासियों के साथ उपचार और सुलह की यात्रा जारी रखने के हमारे निमंत्रण को स्वीकार कर लिया है।" "हम पोप के स्वास्थ्य के लिए प्रार्थना करते हैं क्योंकि हम इस ऐतिहासिक यात्रा की गहन योजना बना रहे हैं।"
पोप द्वारा देखे जाने वाले तीन शहरों के संबंध में, बयान में कहा गया है कि एडमोंटन शहरी कनाडाई शहरों में रहने वाले मूल निवासियों का दूसरी सबसे बड़ी संख्या वाला शहर है और कनाडा के किसी भी प्रांत में सबसे अधिक लगभग 25 आवासीय स्कूल अल्बर्टा में स्थित थे।
इकालुइट  में करीब 8,000 लोगों का घर है और सभी कनाडाई शहरों में इनुइट (3,900) की सबसे अधिक आबादी है।
क्यूबेक सिटी का ऐनी-डी-ब्यूप्रे, उत्तरी अमेरिका के सबसे पुराने और सबसे लोकप्रिय तीर्थ स्थलों में से एक है, जो पूरे कनाडा और दुनिया भर से मूल निवासियों और अन्य लोगों को सालाना आकर्षित करता है।

Add new comment

4 + 2 =