पीड़ितों के आंसू बेकार नहीं होते, वो एक मूक प्रार्थना है, पोप 

आँसू बहाते हुए दिल से की गई प्रार्थना कभी अनसुनी नहीं होती। पोप ने ट्वीट कर प्रार्थना की महता पर जोर देते हुए सभी विश्वासियों से सभी समय माता मरिया की मध्यस्ता द्वारा प्रभु से प्रार्थना करने हेतु प्रेरित किया।
काथलिक कलीसिया मई महिना में सभी विश्वासियों को माता मरिया के आदर में प्रार्थना करने के लिए प्रेरित करती है। माता मरिया की मध्यस्ता द्वारा ईश्वर हमारी मदद करने पहुँचते हैं। पोप ने ट्वीट कर प्रार्थना की महता पर जोर देते हुए सभी विश्वासियों से सभी समय माता मरिया की मध्यस्ता द्वारा प्रभु से प्रार्थना करने हेतु प्रेरित किया।

ट्वीट संदेश : “पीड़ित लोगों के आंसू बेकार नहीं होते। वो एक मूक प्रार्थना है जो स्वर्ग की ओर उठ रही है। माता मरियम में वे हमेशा उनके आंचल के नीचे जगह पाते हैं। उनके साथ, रास्ते में ईश्वर हमारे साथी बन जाते हैं। वे हमारे क्रूस को हमारे साथ ढोते है ताकि हम अपने दर्द से कुचले न जाएं।”

Add new comment

11 + 3 =