जीवन की कठिनाइयों से दबे लोगों के द्वारा येसु हमें शांति देते

पोप फ्राँसिस ने 26 अप्रैल के ट्वीट संदेश में कहा कि जब हम दूसरों के जीवन में शांति के माध्यम बनते हैं तो हमें भी शांति प्राप्त होती है।
पोप ने कहा, "जब हम किसी के लिए शांति लाते हैं जो शारीरिक या आध्यात्मिक रूप से पीड़ित है, जब हम दूसरों को सुनने में कुछ समय देते हैं, उपस्थित होकर या सांत्वना देकर, तब हम येसु से मुलाकात करते हैं जो उन लोगों की नजरों के द्वारा जो जीवन की कठिनाइयों से दबे हैं, हमसे कहते हैं, 'तुम्हें शांति मिले।'"   

Add new comment

1 + 1 =