ख्रीस्तीय एकता का सबसे ठोस रास्ता

18 जनवरी से 25 जनवरी तक ख्रीस्तीय एकता के लिए विशेष रूप से प्रार्थना की जाती है। पोप फ्राँसिस ने ख्रीस्तीय एकता के सही अर्थ पर प्रकाश डालते हुए कहा, "एक दूसरे के लिए प्रार्थना करना एवं इस दुनिया, जिसको ईश्वर बहुत अधिक प्यार करते हैं इसके प्रति उदार होने के लिए एक-दूसरे के साथ सहयोग करना ˸ यही ख्रीस्तीय एकता का सबसे ठोस रास्ता है।"

Add new comment

2 + 3 =