अर्जेंटीना के धर्माध्यक्ष पोप से ˸ शांति के कार्य में हम आपके साथ

पोप फ्राँसिस को लिखे एक पत्र में, अर्जेंटीना के धर्माध्यक्षों ने पोप के प्रति अपनी निकटता व्यक्त की है और रूस एवं यूक्रेन के बीच शांति स्थापित करने में उनके 'अथक साहस और दृढ़ता' की प्रशंसा की है।
अर्जेंटीना के काथलिक धर्माध्यक्षों ने अपनी 120वीं आमसभा के अवसर पर प्रेषित अपने पत्र में पोप को लिखा है, "अर्जेंटीना में तीर्थयात्रा पर आपके भाई धर्माध्यक्ष आपको अपनी निकटता, स्नेह और निष्ठा व्यक्त करना चाहते हैं।"
उन्होंने कहा, "मानव इतिहास के इस समय में प्रभु, पोप को अपनी शांति के वाहक बनने के लिए बुला रहे हैं। हम आपको, आपके अथक साहस और रूस एवं यूक्रेन के बीच और पूरे विश्व में अच्छाई एवं शांति के लिए काम करने की लालसा को जानते हैं।"  
उन्होंने कहा, "हम जानते हैं कि आप उन लोगों के नजदीक हैं जो युद्ध की हिंसा से पीड़ित हैं और युद्ध समाप्त होने के लिए यदि आवश्यक हो तो आप अपना जीवन देने के लिए भी तैयार हैं।"
धर्माध्यक्षों ने कहा, "आपके एवं आपके मिशन के प्रति अनुचित व्यवहार से हम दुःखी हैं, खासकर, हमारे देश में जो निहित स्वार्थ और बुरे मतलब से संचालित है जो आपकी छवि को बिगाड़ना एवं लोगों को उलझन में डालना चाहता है किन्तु आप अच्छी तरह जानते हैं कि प्रभु येसु आपको बहुमूल्य एवं रहस्यात्मक रूप से अपने मुक्तिदायी क्रूस से जोड़ना चाहते हैं।"  
अर्जेंटीना के धर्माध्यक्षों ने कहा कि वे पोप के अत्यन्त करीब हैं और बतलाया कि वे शांति और न्याय के लिए ईश्वर से उनकी "दृढ़ प्रार्थना" में शामिल हैं।
पोप फ्राँसिस को पिता एवं भाई पुकारते हुए धर्माध्यक्षों ने माता मरियम से उनके लिए प्रार्थना की है, खासकर, लुजन की माता मरियम से कि वे उन्हें सांत्वना एवं शक्ति से भर दें जिससे कि वे भले चरवाहे की तरह कलीसिया को मार्गदर्शन देते रहें एवं विश्व की सेवा कर सकें।  
धर्माध्यक्षों ने पोप को बतलाया कि वे लोगों के बीच शांति के सेतु के निर्माण में उनका साथ देते हैं। उन्होंने कहा, "हम एक स्नेही आलिंगन के साथ आपके साथ खड़े हैं।" धर्माध्यक्षों ने संत पापा से अर्जेन्टीना के लिए "पिता-तुल्य आशीर्वाद" की याचना की है।

Add new comment

11 + 0 =