संत पापा द्वारा संत पेत्रुस प्रांगण में स्वर्ग की रानी प्रार्थना

अपने अध्ययन कक्ष की खिड़की से अभिवादन करते हुए संत पापा फ्राँसिस
अपने अध्ययन कक्ष की खिड़की से अभिवादन करते हुए संत पापा फ्राँसिस

रविवार 31 मई, पेंतेकोस्त को संत पापा फ्राँसिस वाटिकन महागिरजाघर में लोकधर्मियों की भागीदारी के बिना ख्रीस्तयाग अर्पित करेंगे। उसके बाद संत पेत्रुस महागिरजाघर के प्रांगण में स्वर्ग की रानी का पाठ करेंगे। वाटिकन प्रेस कार्यालय ने मंगलवार को सूचना दी कि संत पापा फ्राँसिस संत पेत्रुस महागिरजाघऱ में रविवार 31 मई को स्थानीय समयानुसार सुबह 10 बजे पेंतेकोस्त का समारोही ख्रीस्तयाग अर्पित करेंगे। इसमें विश्वासीगण शरीक नहीं हो पायेंगे।

इसके तुरंत बाद, दोपहर 12.00 बजे, संत पापा फ्राँसिस संत पेत्रुस महागिरजाघर के सामने अपने निजी अध्ययन कक्ष की खिड़की से विश्वासियों के साथ स्वर्ग की रानी प्रार्थना का पाठ फिर से शुरू करेंगे।

विश्वासी सामाजिक सुरक्षा के आवश्यक उपायों का सम्मान करते हुए संत पेत्रुस प्रांगण में उपस्थित रहेंगे और पुलिस सुरक्षा की गारंटी देने हेतु आवश्यक कार्यवाही करेगी।

कोविद -19 महामारी के कारण 8 मार्च से संत पापा फ्राँसिस ने प्रेरितिक भवन की लाइब्रेरी से देवदूत प्रार्थना और आम दर्शन समारोह का संदेश देना शुरु किया था।

तब से, संत पापा फ्राँसिस ने रविवार को देवदूत प्रार्थना के बाद खाली पड़े संत पेत्रुस प्रांगण को अपने निजी अध्ययन कक्ष की खिड़की से बाहर देखना और विशेष आशीष देना जारी रखा है।

Add new comment

7 + 1 =