येसु की शांति एक वरदान है

प्रतीकात्मक तस्वीर

शांति की तलाश हरेक व्यक्ति करता है कई लोग इसे धन-दौलत, खाने-पीने अथवा साज-श्रृंगार में खोजते हैं जबकि कुछ लोग इसकी खोज मान-सम्मान, कीर्ति अथवा सत्ता में करते हैं। संत पापा फ्राँसिस ने बतलाया कि हम सच्ची शांति कहाँ से प्राप्त कर सकते हैं।

"येसु की शांति एक वरदान है। हम इसे मानवीय साधनों से प्राप्त नहीं कर सकते। येसु की शांति अलग है- यह हमें सहन करना सिखलाती है। सहन करने का अर्थ है अपने जीवन, अपनी कठिनाइयों, अपने कार्यों एवं सब कुछ को अपने कंधे पर लेकर साहस के साथ आगे बढ़ना।"    

 

Add new comment

1 + 2 =