पोप द्वारा विश्व संचार दिवस पर कहानी कहने हेतु प्रोत्साहन

एकल स्रोत से आने वाले फाइबर ऑप्टिक केबल का एक बंडल
एकल स्रोत से आने वाले फाइबर ऑप्टिक केबल का एक बंडल

जैसा कि संत पापा फ्राँसिस ने रविवार को विश्व संचार दिवस की याद की, वाटिकन संचार विभाग के प्रीफेक्ट ने मुलाकात पर स्थापित एक नए संचार मॉडल के निर्माण में कलीसिया की भूमिका को दर्शाया।

रविवार को स्वर्ग की रानी प्रार्थना के उपरांत संत पापा  फ्राँसिस ने 24 मई को विश्व संचार दिवस के अपने संदेश को याद किया, जिसका विषय है ‘कहानी बताना’।

संत पापा ने कहा कि यह पुनरावृत्ति हमें आशा के साथ भविष्य की ओर देखने वाली कहानियों को बताने में मदद कर सकती है। "यह घटना हमें रचनात्मक कहानियों को बताने और साझा करने के लिए प्रोत्साहित करती है जो हमें यह समझने में मदद करती हैं कि हम एक ऐसी कहानी का हिस्सा हैं जो खुद से बड़ी है और भविष्य को आशा के साथ आगे देख सकती है अगर हम वास्तव में एक-दूसरे को भाईयों और बहनों के रूप में देखभाल करते हैं।"

एक नया दृष्टिकोण साझा करना
इस अवसर को चिह्नित करने के लिए, वाटिकन संचार विभाग (वाटिकन न्यूज़) के प्रीफेक्ट डॉ.पाओलो रुफ़िनी ने एक वीडियो संदेश जारी किया और विश्व संचार दिवस के लिए संत पापा फ्राँसिस के संदेश को दर्शाया।

डॉ. रुफ़िनी कहते हैं कि संदेश की कुंजी हमारे स्वयं के अनुभवों का "साझाकरण" है, जो हमें "मुक्ति की संभावना" में एक नई कहानी बनाने की अनुमति देता है।

समन्वय को पुनः खोजना
कोविद -19 लॉकडाउन के कारण अलगाव और सोशल-डिस्टेंस के हमारे हालिया अनुभव ने हमें यह सिखाया है कि ईश्वर हमें आपसी एकता का एक गहन संवाद प्रदान करता है।

डॉ.रुफिनी कहते हैं, "अलगाव के हमारे अनुभव द्वारा, हम समन्वय के महत्व को समझ गए हैं," “हमारे अनुभवों में एकता को खोजने की क्षमता के बिना, न तो ज्ञान है और न ही विवेक। सब कुछ एक एकीकृत कहानी के बिना तथ्यों की सूची कम हो गई है।”

सद्भाव का स्वस्थ मिलन
डॉ. रुफ़िनी का कहना है कि महामारी ने हमें एक विकल्प दिया है: "हम खुद को केवल प्रौद्योगिकी को दें या आत्मा को दें।"

वे कहते हैं कि फेक न्यूज भी प्रचारित किया गया है। "सब कुछ निर्भर करता है कि हम कहाँ अपनी आशा को आधार बनाते हैं।" हमारे पास "स्वस्थ इच्छाशक्ति के सद्भाव के साथ महामारी के अस्वस्थ संघ को जवाब देने" का अवसर है।

उत्कृष्ट आयाम
महामारी ने हमें संचार के अच्छे रूपों पर स्थापित, स्वागत करने वाले समुदायों के निर्माण का मौका भी दिया है। वे कहते हैं, "संचार को एक ऐसे नेटवर्क में फिर से निहित होने की आवश्यकता है जो वैश्विक और स्थानीय, डिजिटल और वास्तविक दोनों है। संचार एकजुट करने के लिए कार्य करता है, न कि विभाजन के लिए और न ही खरीदने या बेचने के लिए। हमें प्रौद्योगिकी को एक उत्कृष्ट आयाम देना चाहिए।”

मानवीय संबंधों का निर्माण
 प्रीफेक्ट कहते हैं कि मुलाकात सच्चे संचार के लिए आधार प्रदान करता है। इसलिए हमें "साझाकरण की अर्थव्यवस्था" का निर्माण करते समय "लोगों के बीच के अटूट रिश्ते" को बनाए रखने के लिए इंटरनेट का उपयोग करने के तरीकों की खोज करने की आवश्यकता है और इसके लिए सभी लोगों को अपना समय, प्रतिभा, पैसा देकर और प्रार्थना द्वारा इसमें भाग लेने के लिए प्रोत्साहित करना चाहिए।

एक मुस्कान कहानी बन जाती है
वे कहते हैं कि अपने से बाहर निकलने वाली कलीसिया, "संचार के सभी साधनों के निर्माण में मदद कर सकती है।" "समय आ गया है अब संचार के ज्ञान और प्रेम को फिर से वितरित करने के तरीकों के बारे में सोचा जाए।" डॉ. रुफ़िनी कहते हैं कि हममें से प्रत्येक उन लोगों की मुस्कुराहट हो सकते हैं जिन्होंने हमसे पहले किया है। हर कहानी को मुस्कुराहट के साथ साझा करके फिर से लिखा और नया बनाया जा सकता है।

Add new comment

8 + 0 =