युवा जगत

युवा जगत

‘युवा’ शब्द हमारे मन व दिल में उडान और उमंग पैदा करता है। जी हाँ, आंखों में उम्मीद के सपने, नयी उड़ान भरता हुआ मन, कुछ कर दिखाने का इरादा और दुनिया को अपनी मुट्ठी में करने का साहस रखने वाले युवा परिवार, समाज, और देश की शान और समृद्धि है। युवाओं का मिलन प्यार और मन को सचेत करने वाला होता है। जब भी आज के युवाओं के विषय पर चर्चा होती है, तो सभी एकमत से बोल उठते हैं जोशीले, गर्वीले व ऊर्जा से भरपूर हैं आज के युवा! यह सच है, आज की युवा पीढ़ी के लिए हर क्षेत्र में अपार संभावनाएं है। युवा वर्ग किसी भी काल या देश का आईना होता है जिसमें हमें उस युग का भूत, वर्तमान और भविष्य, साफ़ दिखाई देता  है। इनमें इतना जोश रहता है कि ये किसी भी चुनौती को स्वीकारने के लिये तैयार रहते हैं। आखिर ये ही तो हमारे परिवार, समाज और देश के भावी कर्णधार हैं।

नई युवा पीढ़ी, ढ़ेर सारी सुख-सुविधाओं के बीच जीवन व्यतीत करने की होड़ में अपने सांस्कृतिक तथा पारिवारिक मूल्यों और आंतरिक शांति को दावँ पर लगा रही हैं। सफ़लता पाने की अंधी दौड़, जीवन शैली को इस कदर अस्त-व्यस्त और विकृत कर दिया है कि आधुनिकता के नाम पर पश्चिमी सभ्यता का अनुसरण, उनके जीवन को बर्वाद कर दे रहा है। उनकी सहनशीलता खत्म होती जा रही है। धैर्य, नैतिकता, आदर्श जैसे शब्द उनसे दूर होते जा रहे हैं। यह चिंता का विषय है। एक बात तो ये भी सच है कि वे नई सीख का पीछा नहीं छोड़ते।

हर क्षण हर पल आपके साथ साथ रेडियो वेरितास एशिया सत्यस्वर, युवाओं का खास दोस्त है। हमें सुनते रहिये – हम आपकी उमंग और पसंद के ओर खास कार्यक्रमों के साथ।

Add new comment

1 + 19 =