कोरोना संकट में कायम रखे रिश्तों का स्वाद।

ऑनलाइन गेम
ऑनलाइन गेम

पिछले एक महीने से भी अधिक समय से कोरोना संकट से बचने के लिए लोग सामाजिक दूरी बनाकर अपने अपने घरों में रह रहे है। और घरों में अपने परिवार के साथ समय बिता रहे है। आज के इस दौर में कोई भी स्मार्टफोन एवं इंटरनेट के प्रभाव से अछूता नही है। टेलीविजन, मोबाइल, इंटरनेट के साथ साथ कई ऑनलाइन गेम भी लोगों के टाइम पास का जरिया बन चुका है। pubG, ludo जैसे अनेकों ऑनलाइन गेम लोगों के लिए टाइम पास का मुख्य साधन बन चुके है। टाइम पास के साथ ही यह ऑनलाइन गेम लोगों की सहन शक्ति को कम कर उनको आक्रामक बना रहा है। जिससे कि लोगों की निजी जिंदगी पर भी इसका प्रभाव देखने को मिल रहा है।
अभी ऐसी ही एक खबर देखने को मिली है जहाँ वड़ोदरा में ऑनलाइन लूडो गेम में पत्नी से हारने पर ग़ुस्साये पति ने अपनी पत्नी को पीट पीटकर उसकी रीढ़ की हड्डी तोड़ दी। इसके साथ ही इस लॉक डाउन में ऐसी ही कई खबरें सामने आई है जहाँ परिवार के सदस्यों के बीच में ऑनलाइन गेम को लेकर झगड़ा हुआ है। कुछ दिनों पहले भी इसी प्रकार की खबर आई थी कि ऑनलाइन लूडो गेम के झगड़े को लेकर पति-पत्नी पुलिस स्टेशन तक पहुंच गए थे। 

कोरोना संकट में जब हम घर में बैठे है तो हमें चाहिए कि हम अपने संबंधों को एक दूसरे के साथ और मजबूत करें। क्योंकि यही समय है जब हम परिवार के सदस्यों को और बेहतर तरीके से समझ सकते है। मगर स्मार्टफोन के इस दौर में लोगों के अपनो के बीच एक अदृश्य दीवार कायम कर ली है। और इस दीवार में परिवार के लोगों को मानसिक रूप से एक दूसरे से दूर कर दिया। जिस कारण ऐसी हिंसा की खबरें सामने आ रही है।
स्मार्टफोन के द्वारा लोगों के बहुत से काम आसान हो गए है। यह मनुष्यों के लिए किसी प्रकार के वरदान से कम नही है, अगर इसका सही इस्तेमाल किया जाए तो। और अगर इसका गलत उपयोग किया जाए तो यह मनुष्य के पतन का कारण भी बन सकता है। हमें परिवार के सदस्यों एवं रिश्तों के बीच, वास्तविक जीवन एवं काल्पनिक जीवन के बीच एक सामंजस्य स्थापित करना होगा। अपना समय परिवार के लोगों को देना होगा, तभी हम एक दूसरे को अच्छी तरह से समझ पाएंगे एवं पारिवारिक जीवन का वास्तविक आनंद ले पाएंगे। लॉक डाउन का समय हमारे लिए सुनहरा अवसर है जब हम अपने परिवार जनों के साथ समय बिताकर अपने रिश्तों में मजबूती ला सकते है जिससे कि रिश्तों में मिठास सदा बानी रहे। मैं आप सभी लोगों से निवेदन करता हूँ कि इस कोरोना संकट में सावधानी बरतकर घर पर सुरक्षित रहे। काल्पनिक जीवन को वास्तविक जीवन पर हावी ना होने दे। एक बात हमेशा याद रखें खेल को खेल भावना से ही खेले। क्योंकि खेल हमारे मनोरंजन के लिए है ना कि हमारी बुद्धि के विनाश के लिए। खुद पर काबू रखें, एक दूसरे का साथ दे ताकि कोरोना संकट में भी हमारे रिश्तों का स्वाद सदा कायम रहे।

 घर रहे।
सफाई का ध्यान रखें।
शारिरिक दूरी बनाए रखें।
सुरक्षित रहे।

Add new comment

16 + 2 =