येरूसालेम में प्रतिष्ठान-पर्व

सन्त योहन के अनुसार पवित्र सुसमाचार
10:22-30

उन दिनों येरूसालेम में प्रतिष्ठान पर्व मनाया जा रहा था। जाडे का समय था। ईसा मंदिर में सुलेमान के मण्डप में टहल रहे थे। यहूदियों ने उन्हें घेर लिया और कहा आप हमें कब तक असमंजस में रखे रहेंगे? यदि आप मसीह हैं, तो हमें स्पष्ट शब्दों में बता दीजिये। ईसा ने उन्हें उत्तर दिया, मैंने तुम लोगों को बताया और तुम विश्वास नहीं करते। जो कार्य मैं अपने पिता के नाम पर करता हूँ, वे ही मेरे विषय में साक्ष्य देते हैं। किंतु तुम विश्वास नहीं करते, क्योंकि तुम मेरी भेडें नहीं हो। मेरी भेडें मेरी आवाज पहचानती है। मै उन्हें जानता हँ और वे मेरा अनुसरण करती हैं। मै उन्हें अनंत जीवन प्रदान करता हूँ। उनका कभी सर्वनाश नहीं होगा और उन्हें मुझ से कोई नहीं छीन सकेगा। उन्हें मेरे पिता ने मुझे दिया है वह सब से महान है। उन्हें पिता से कोई नहीं छीन सकता। मैं और पिता एक हैं।

Add new comment

1 + 9 =