समुद्रतट पर विशाल जनसमूह

सन्त मारकुस का सुसमाचार
3:7-12

ईसा अपने शिष्यों के साथ समुद्र के तट गये। गलीलिया का एक विशाल जनसमूह उनके पीछे-पीछे हो लिया। यहूदिया, येरूसालेम, इदूमैया, यर्दन के उस पार, और तीरूस तथा सीदोन के आस-पास से भी बहुत-से लोग उनके पास इकट्ठे हो गये; क्योंकि उन्होंने उनके कार्यों की चर्चा सुनी थी। भीड़ के दबाव से बचने के लिए ईसा ने अपने शिष्यों से कहा कि वे एक नाव तैयार रखें; क्योंकि उन्होंने बहुत-से लोगों को चंगा किया था और रोगी उनका स्पर्श करने के लिए उन पर गिरे पड़ते थे। अशुद्ध आत्मा ईसा को देखते ही दण्डवत् करते और चिल्लाते थे-"आप ईश्वर के पुत्र हैं"; किन्तु वह उन्हें यह चेतावनी देते थे कि तुम मुझे व्यक्त मत करो।

Add new comment

2 + 8 =