धर्मसभा: मिशन के लिए मसीह के पदचिन्हों पर चलना

धर्मसभा की बैठक 16 मई को बिशप ग्रासी सभागार, गुनाडाला, विजयवाड़ा धर्मप्रांत, आंध्र प्रदेश, दक्षिण भारत में आयोजित की गई थी। 
यह सुबह नौ बजे धर्मप्रांत के सभी पल्ली से पुरोहितों और धर्मसभा समन्वयकों के आगमन और पंजीकरण के साथ शुरू हुआ।
प्रारंभ में, धर्मप्रांत के वाइसर जनरल फादर एम गेब्रियल ने सभी गणमान्य व्यक्तियों, वक्ताओं और प्रतिभागियों का स्वागत किया।
धर्माध्यक्ष थेलगाथोटी जोसफ राजा राव ने अपने उद्घाटन भाषण में पोप फ्राँसिस के दृष्टिकोण से इस धर्मसभा के आरंभिक बिंदु का उल्लेख किया।
पोप का हवाला देते हुए, बिशप ने कहा, "मैं एक ऐसे चर्च का सपना देखता हूं जो सभी लोगों के साथ एकता में हो, एक चर्च जो एक साथ चलता है, अपने दिमाग के अनुसार मसीह के मिशन को प्रभावी ढंग से समझने, पूरा करने और जीने के लिए।"

Add new comment

2 + 1 =