दक्षिण भारत में येसु और माता मरियम की मूर्तियों को तोड़ा गया

आंध्र प्रदेश में गुंटूर जिले के एडलापाडु मंडल में धार्मिक प्रतीकों की बर्बरता पर कैथोलिकों ने दुख व्यक्त किया है।
कुछ अज्ञात व्यक्तियों ने शनिवार, 14 मई को गुंटूर के सूबा में राहधारी मठ पुण्यक्षेत्रम, एडलापाडु के परिसर में जीसस और मदर मैरी के पवित्र हृदय की मूर्तियों में तोड़फोड़ की।
घटना की जानकारी जब कुछ ग्रामीणों को हुई तो उन्होंने मामले की सूचना पुलिस को दी।
घटना की जानकारी होने पर पुलिस उपाधीक्षक विजय भास्कर राव (नरसारावपेट), ग्रामीण अंचल निरीक्षक सुब्बा राव (चिलकालूरिपेटा) और उप-निरीक्षक रामबाबू (एडलापाडु) जैसे वरिष्ठ पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे।
पल्ली पुरोहित फादर सुभाष चंद्र बोस की शिकायत के बाद पुलिस ने मामले की जांच शुरू की।
आंध्र प्रदेश विधानसभा के सदस्य मंत्री विदादाला रजनी ने रविवार को अन्य उच्च अधिकारियों के साथ क्षेत्र का दौरा किया।
“धार्मिक सहिष्णुता भारतीय संस्कृति का एक हिस्सा था। अगर कोई इसे बाधित करने की कोशिश करता है तो सख्त कार्रवाई की जाएगी।"
उन्होंने पुलिस विभाग से मूर्तियों को तोडऩे वाले अज्ञात लोगों की तलाश में तेजी लाने को भी कहा।
गुंटूर के धर्मप्रांत में 3,50,000 कैथोलिकों के साथ सौ से अधिक पैरिश हैं। धर्मप्रांत में 230 पुरोहित और 730 धर्मबहन काम करते हैं।

Add new comment

1 + 16 =