इंडोनिशया के भूकम्प में 100 बच्चों की मृत्यु

पश्चिम जावा में आये भूकम्प की स्थिति से ऊबरने हेतु यूनिसेफ इंडोनेशियाई सरकार की सहायता कर रही है।
इंडोनेशिया के चियांनजुर प्रांत में हाल ही में 5.6 की तीव्रता से आये भूकंप कई परिवारों को तबाह कर दिया है। नवीनतम आधिकारिक अनुमानों के अनुसार 24  नवंबर तक 15  साल से कम उम्र के करबीन 100 बच्चों ने इस जलजले में अपनी जान गंवाई है।
इस भूकंम में अब तक मारने वालों की संख्या 272 बतलाई जाती है। स्थानीय समाचारों के अनुसार भूकंप में करीबन 2,046  लोग घायल हुए हैं, 39 लोग अब भी लापता हैं जबकि 62,882 विस्थापित हो गए हैं।
प्रभावित क्षेत्रों में मानवीय सहायता बढ़ाया गया है, खोज और बचाव अभियान में लोगों की जरूरतों का सही हाल पता चल रहा है। भूकंप के कारण देश में आपातकाल की स्थिति बनी हुई है, जिन बच्चों और परिवारों ने अपने प्रियजनों को खो दिया है, जो विस्थापित या घायल हो गए हैं,  उन्हें आश्रय, स्वच्छ पानी, चिकित्सा सहायता और सुरक्षा उपलब्ध कराने की शीघ्र कोशिश की जा रही है। 
इंडोनेशिया सरकार चुनौतियों का सामना कर रहे बच्चों और समुदायों के लिए आपातकालीन सेवा का मुहैया कर रही है। यूनिसेफ और उसके सहयोगी संस्थान बच्चों और उनके परिवारों को अति जरूरत की चीजें  उपलब्ध करने में मदद  रहे हैं।
सरकार द्वारा लोगों को मूलभूत सहायता की चीजें वितरित की जा रही हैं, जिसमें यूनिसेफ समर्थित आपदा तैयारी सहायता शामिल है, जिसमें स्कूल की आपूर्ति जैसे रहने और सीखने के लिए अस्थायी तम्बूओं, पेन, नोटबुक और पेंसिल के साथ “स्कूल बॉक्स”, बच्चों के लिए उपयुक्त खिलौने, चित्राकंन की सामग्री और खेल के उपकरण दिये जा रहे हैं। इस सहायता से लगभग 2,500 छात्रों को लाभान्वित होने की उम्मीद है।

Add new comment

3 + 14 =