पवित्र बाइबिल महोत्सव का भव्य समापन

बाइबिल महोत्सव

आठवें बाइबिल महोत्सव के अंतिम दिन की शुरुआत रोजरी माला विनती के जाप से शुरू हुई । वर्षा के बावजूद भारी संख्या में भक्तजन इस आयोजन में उपस्थित थे। मध्यप्रदेश के नौ धर्मप्रांत के प्रतिनिधियों ने अपने अपने धर्मप्रांत में की जा रही सुसमाचार प्रचार से सम्बंधित गतिविधियों की संक्षिप्त जानकारी दी ।फादर अनिल देव ने अपने प्रवचन की शुरुआत “दुनिया है बंधन में हे प्रभु, उसे आज़ादी की ज़रूरत है । कोई निराश है तो कोई है टूटा, सबको है इंतज़ार मुक्ति की तेरी” इस गीत से की .उन्होंने अपने प्रवचन में कहा- “सारी कलीसिया को पवित्र आत्मा आह्वान करता है- जागो। मैंने तुम्हें चुना और नियुक्त किया है –जाओ और फल उत्पन्न करो। हर विश्वासी एक मिशनरी है । तुम पृथ्वी के नमक व दीपक हो, अपने जीवन द्वारा अन्य को खुशहाल व प्रकाशमान करें। प्रभु से केवल बोलना ही नहीं बल्कि हमें सुनना भी चाहिए। अगल-बगल में भी देखना है । एक ईसाई वह है जिसे येसु मसीह ने वश में किया है।”इलाहबाद बिशप राफ़ी मांजिल ने अपने उद्बोधन में कहा- “हमारा व्यक्तिगत ही नहीं पुरे समाज का नवीनीकरण होना चाहिए । सुसमाचार की शक्ति लोगों के ह्रदय में क्रियाशील है । केवल 10 प्रतिशत लोग ही ईश्वर से प्राप्त उपकारों के लिए धन्यवाद देते है जबकि प्रभु को धन्यवाद देना सबसे सुन्दर बलिदान है ।”प्रवचन के पश्चात् भोपाल महाधर्मप्रांत के आर्च बिशप माननीय लियो कार्नेलियो की अगुवाई तथा इलाहाबाद, सागर, उज्जैन, इन्दौर एवं खण्डवा धर्मप्रांत के धर्माध्यक्षों, विकार जनरल तथा लगभग 50 से अधिक पुरोहितगण की उपस्थिति में पवित्र मिस्सा बलिदान अर्पित किया गया । महाधर्माध्यक्ष लियो कार्नेलियो ने अपने उद्बोधन में कहा- “जाओ और प्रभु का वचन सारे जगत को सुनाओ. प्रेम, एकता, शांति, तथा भाईचारे का सन्देश सारे संसार में फैलाए।”बाइबिल महोत्सव का समापन इन्दौर धर्मप्रांत के धर्माध्यक्ष माननीय चाको थोत्तुमारिकल एस वी डी के अध्यक्षीय सन्देश से हुआ । उन्होंने मध्यप्रदेश के विभिन्न स्थानों से आये हुए लोगों को धन्यवाद देते हुए कहा कि निश्चित ही प्रभु के इस वचन का आपके जीवन पर गहरा असर हुआ होगा । और आपने ईश्वर की कृपाओं को महसूस किया होगा । उन्होंने जनता से अनुग्रह किया कि वे पवित्र वचन को पढना अपने व्यक्तिगत और पारिवारिक जीवन का एक अंग बना ले । इस आठवें बाइबिल महोत्सव के संयोजक फादर जोबी आनन्द ने पधारे हुए प्रत्येक अतिथि एवं विश्वासिगण को हृदय की गहराइयों से धन्यवाद दिया । जिस भव्य भक्तिमय भाव से इस आठवें पवित्र बाइबिल महोत्सव का शुभारम्भ हुआ था उसी भव्यता से माता मरियम की मूर्ति, सन्त मरियम थ्रेसिया की मूर्ति एवं पवित्र बाइबिल को जुलूस के रूप में वापस लाते हुए महोत्सव का समापन भी हुआ ।

Add new comment

3 + 7 =