कोविद-19 वाटिकन आयोग: स्वास्थ्य पर अधिक खर्च, हथियारों पर कम

पाकिस्तान के कोरोना मरीज
पाकिस्तान के कोरोना मरीज

कोविद -19 के लिए बने वाटिकन आयोग ने फिर से हथियारों के बजाय स्वास्थ्य प्रणालियों के महत्व पर पुनःविचार और प्रयासों पर वित्तीय सहायता प्रदान करने पर प्रकाश डाला, विशेष रूप से जब दुनिया कोरोना वायरस से निपटती है।

कोविद -19 के लिए बने वाटिकन आयोग ने मंगलवार को वाटिकन में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित की। जिसका थीम था, "भविष्य की तैयारी, कोविद -19 के समय में शांति का निर्माण।" वक्ताओं ने कहा कि कोरोनोवायरस महामारी ने दुनिया भर में स्वास्थ्य सेवा प्रणालियों की कई खामियों को प्रकाश में लाया है। वक्ताओं ने इस बात पर जोर दिया कि हथियारों पर खर्च होने वाले धन को सहायता और स्वास्थ्य देखभाल पर खर्च किए जाने वाले धन में परिवर्तित किया जा सकता है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन के बजट में 2019 में वैश्विक सैन्य खर्च $ 1.9 ट्रिलियन डॉलर था। समग्र मानव विकास को बढ़ावा देने के लिए वाटिकन विभाग के प्रीफेक्ट और कोविद -19 के लिए वाटिकन आयोग के अध्यक्ष कार्डिनल पीटर टर्कसन के अनुसार, आज के समय में एकजुटता का वैश्वीकरण करने की आवश्यकता है। बहुत सारा धन सैन्य खर्चों के लिए आवंटित किया जा रहा है, बीमार, हाशिए पर रहने वाले गरीब और संघर्षों के शिकार वर्तमान संकट से प्रभावित हैं। कार्डिनल टर्कसन ने कहा, अब तक, स्वास्थ्य, सामाजिक-आर्थिक और पारिस्थितिक संकट न केवल अमीर और गरीब के बीच, बल्कि शांति, समृद्धि और पर्यावरण न्याय के क्षेत्रों और संघर्ष, अभाव और पारिस्थितिक विचलन के क्षेत्रों के बीच की खाई को चौड़ा कर रहे हैं। "शांति के बिना कोई उपचार नहीं हो सकता है",

संघर्ष कम तो अन्याय भी कम
कार्डिनल टर्कसन के अनुसार, "संघर्षों में कमी अन्याय और असमानता को कम करने का एकमात्र तरीका है। सशस्त्र हिंसा, संघर्ष और गरीबी वास्तव में एक चक्र से जुड़ी हुई है जो शांति को बाधित करती है, मानव अधिकारों के उल्लंघन और विकास को बढ़ावा देती है।" कार्डिनल टर्कसन ने संयुक्त राष्ट्र महासचिव द्वारा हाल ही में एक वैश्विक युद्ध विराम की मंजूरी के साथ-साथ 170 देशों द्वारा मौन हथियारों को संयुक्त राष्ट्र के आह्वान के अनुमोदन की सराहना की। कार्डिनल ने कहा, "संकट के समय में एकजुटता, शांति का नया नाम है।"

आम भलाई में निवेश करे
दूसरी वक्ता एक अर्थशास्त्री और कोविद -19 के लिए वाटिकन आयोग का समन्वयक सिस्टर अलेसांद्रा स्मिरिली ने जोर देकर कहा कि स्वास्थ्य प्रणालियों को मजबूत किया जाना चाहिए और हथियारों का उत्पादन करने वाली कंपनियां इसमें सहायता कर सकती हैं।  हमें संचारी रोगों से सुरक्षा की आवश्यकता है और हमें रोकथाम में निवेश करने की आवश्यकता है: कोविद -19 ने कई स्वास्थ्य प्रणालियों के संचारी रोगों के लिए उपचार के अपर्याप्त वित्तपोषण का खुलासा किया है। वे कहती हैं कि संत पापा फ्राँसिस ने हमसे रचनात्मक समाधान पूछा है । इसलिए हम खुद से पूछते हैं: क्या होगा अगर हथियार बनाने की दौड़ के बजाय, भोजन, स्वास्थ्य और कार्य सुरक्षा की दिशा में दौड़ को तेज करें? इस समय नागरिकों को सैन्य मजबूत राज्य की जरुरत नहीं है उन्हें ऐसे राज्य की जरुरत है जो सामान्य भलाई के लिए धन निवेश करे।

 नवीनीकृत हथियार नियंत्रण की आवश्यकता
वर्तमान सैन्य व्यय शीत युद्ध के दौरान हुए व्यय से कहीं अधिक है। कोविद -19 की सुरक्षा के लिए वाटिकन आयोग के समन्वयक एलेसियो पेकोरियो ने निष्कर्ष निकाला, कि चिकित्सा आपूर्ति, खाद्य सुरक्षा और सामाजिक न्याय पर केंद्रित आर्थिक सुधार और हरित अर्थव्यवस्था को नए हथियारों के नियंत्रण के संदर्भ में सैन्य क्षेत्र से हटाये जाने वाले संसाधनों की आवश्यकता है। खाद्य सुरक्षा पहले स्थान पर और अंतर्राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए मौलिक है।

Add new comment

2 + 6 =