ईद अल-अधा पर फ्राँस के धर्माध्यक्षों ने मुसलमानों को भेजा सन्देश

फ्राँस के काथलिक धर्माध्यक्षों ने 31 जुलाई को मनाये जानेवाले "बलिदान के पर्व" ईद अल-अधा के उपलक्ष्य में इस्लाम धर्मानुयायियों को एक सन्देश प्रेषित कर एकता एवं भाईचारे की मंगलकामना की है।

इस्लाम धर्मानुयायियों के साथ संबंधों के लिए राष्ट्रीय सेवा के निर्देशक फादर विन्सेन्ट फेरोदी द्वारा हस्ताक्षरित धर्माध्यक्षों का सन्देश 30 जुलाई को वाटिकन द्वारा प्रकाशित किया गया। सन्देश में स्मरण दिलाया गया कि कोरोना वायरस महामारी ने काथलिक एवं इस्लाम जगत को बहुत क़रीब ला दिया है। कहा गया कि "एक ईश्वर में विश्वास करनेवाले हम काथलिकों एवं मुसलमानों को, सभी के कल्याण और जीवन को सुरक्षित करने के लिये, एक सामान्य नागरिक दृष्टिकोण रखते हुए, अपने विश्वास का पालन करना पड़ा।"

धर्माध्यक्षों ने याद किया कि लॉकडाऊन के दिनों में हमने विश्वास के मूल तत्वों पर चिन्तन किया  तथा अन्यों के साथ एकजुटता एवं उत्कंठा के द्वारा हम दूसरे पर ध्यान देने के लिये बाध्य हुए और यह सब ईश्वर के साथ हमारे सम्बन्ध से सम्भव हो सका।

फ्राँस के धर्माध्यक्षों ने उन लोगों पर गहन दुख व्यक्त किया जो कोविद-19 महामारी के कारण मौत के शिकार हुए हैं तथा उन सब के प्रति हार्दिक आभार व्यक्त किया जिन्होंने जी जान से इन दिनों बीमारों सेवा की। उन्होंने, विशेष रूप से, डॉक्टरों, नर्सों, एम्बुलेंस चालकों, दुकानदारों, शिक्षकों,  नगरपालिका कर्मचारियों को याद किया जिन्होंने लॉकडाऊन के समय नागरिकों की निःस्वार्थ सेवा की।  

धर्माध्यक्षों ने कहा हालांकि महामारी के कारण हम एक कठिन दौर से गुज़र रहे हैं, महापर्व ईद अल-अधा के उपलक्ष्य में हम अपने मुसलमान भाइयों के साथ सहभागिता महसूस करते हुए उनके प्रति शुभकामनाएँ अर्पित करते हैं। उन्होंने लिखा, "सर्वशक्तिमान् ईश्वर से हम प्रार्थना करते हैं कि प्रभु पृथ्वी पर अपनी तीर्थयात्रा जारी रखने के लिए हम सब को विश्वास में एकजुट रखें तथा इसके प्रत्येक दिन को भ्रातृत्व भाव एवं एकात्मता से परिपूर्ण रखें। आप सबको ईद अल-अधा त्यौहार  मुबारक! प्रभु ईश्वर आपको तथा आपके परिवारों एवं समुदाय को आशीष प्रदान करें!"  

Add new comment

1 + 5 =