2018 में नाईट क्लब त्रासदी के शिकार लोगों के परिवारों से मिले पोप!

8 दिसम्बर 2018 की रात को एनकोना शहर में एक दुर्घटना घटी थी। नाइट क्लब में भगदड़ होने से 6 नागरिकों की मौत हो गई थी और लगभग 120 लोग घायल हो गए थे। पोप फ्रांसिस ने मौत के शिकार युवाओं, घायलों एवं उनके परिवारवालों के लिए प्रार्थना की थी।

पोप फ्रांसिस की सहानुभूति:- पोप फ्रांसिस ने उन्हें सांत्वना देते हुए कहा, "मेरे साथ अपना दुःख बांटने एवं प्रार्थना करने हेतु आने के लिए धन्यवाद। मैं इससे हिल गया था किन्तु समय बीतने के साथ एवं दुर्भाग्य से, कई मानवीय त्रासदियों के कारण व्यक्ति भूलने लगता है। यह मुलाकात पोप एवं कलीसिया को इसे नहीं भूलने, अपने हृदय में रखने और सबसे बढ़कर आपके प्रियजनों को पिता ईश्वर के पवित्र हृदय को समर्पित करने में मदद देगी।"  

पोप फ्रांसिस ने घटना की याद करते हुए कहा, "हर दुखद मौत अत्यधिक पीड़ा लेकर आती है किन्तु जब यह पाँच किशोर एवं एक युवा माता की जान ले ली तो यह बहुत बड़ा है, ईश्वर की सहायता के बिना इसे सहन करना मुश्किल है। मैं नाईट क्लब में दुर्घटना के कारणों पर नहीं जाता, जहाँ आपके परिवार वालों की मौत हुई किन्तु मैं अपने पूरे हृदय से आपके दुःख में सहभागी हूँ और आपके न्याय की चाह का समर्थन करता हूँ। मैं आपको विश्वास, सांत्वना एवं आशा की शुभकामनाएँ देता हूँ।"

उन्होंने कहा कि त्रासदी का स्थल कोरिनाल्दो उस स्थान पर है जहाँ लोरेटो की माता मरियम नजर रखती हैं। उनका तीर्थस्थल वहाँ से दूर नहीं है, अतः हम विश्वास करते हैं कि एक माता के रूप में वे अपनी नजर उनसे कभी नहीं फेर सकतीं, खासकर, उस नाटकीय भ्रम की घड़ी में, निश्चिय ही उन्होंने अपनी कोमलता से उनका साथ दिया है। कितनी बार इन्होंने प्रणाम मरियम की प्रार्थना द्वारा उनका आह्वान किया था और दया की याचना की थी। यद्यपि इस विकट समय में वे ऐसा नहीं भी कर पाये हों, माता मरियम हमारी अर्जियों को कभी नहीं भूलतीं। उन्होंने अपने बेटे येसु के करुणावान आलिंगन में आने हेतु निश्चय ही उनका साथ दिया है।

धर्माध्यक्ष, पुरोहित और समुदाय की प्रार्थना एवं स्नेह :- दुर्घटना 8 दिसम्बर 2018 की रात को निष्कलंक गर्भागमन के पर्व के दिन घटी थी। उसी दिन देवदूत प्रार्थना के अंत में पोप फ्रांसिस ने उन युवाओं, घायलों एवं उनके परिवारवालों के लिए प्रार्थना की थी। पोप फ्रांसिस ने कहा, "मैं जानता हूँ कि आपके धर्माध्यक्ष, पुरोहित और आपके समुदाय ने प्रार्थना एवं स्नेह द्वारा आपका साथ दिया है।" पोप फ्रांसिस ने अपनी प्रार्थनाओं का आश्वासन देते हुए उन्हें अपना प्रेरितिक आशीर्वाद दिया। अंत में, पोप फ्रांसिस ने नाईट क्लब में मौत के शिकार असिया, बेनेदेत्ता, दानिएल, एम्मा, मथियस और एलेनोरा की याद करते हुए उनके लिए एक साथ प्रणाम मरियम प्रार्थना की।   

Add new comment

9 + 3 =