'हम मास्को से बातचीत हेतु संकेत की प्रतीक्षा कर रहे हैं' कार्डिनल पारोलिन

एक पुस्तक प्रस्तुति के मौके पर, वाटिकन राज्य सचिव कार्डिनल ने यूक्रेन में संघर्ष के समाधान के लिए संत पापा की व्यक्तिगत रूप से राष्ट्रपति पुतिन से मुलाकात करने की इच्छा की पुष्टि की।
कार्डिनल पारोलिन ने रोम में एक पुस्तक प्रस्तुति के बाद पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए कहा, "संत पापा फ्राँसिस मास्को जाने के लिए तैयार हैं।" "संत पापा और परमधर्मपीठ युद्ध को रोकने के लिए हर संभव प्रयास करने के लिए तैयार हैं।"
"वे केवल रूस से खुलेपन के संकेत की प्रतीक्षा कर रहे हैं।"
इस सप्ताह एक इतालवी दैनिक समाचार के साथ एक साक्षात्कार से उपजी विषय पर आगे टिप्पणी करते हुए, कार्डिनल ने कहा कि उनकी राय में "इस बिंदु पर कोई अन्य कदम नहीं उठाया जाना है। राष्ट्रपति पुतिन से व्यक्तिगत रूप से मिलने के लिए संत पापा की ओर से मास्को जाने का प्रस्ताव दिया गया है। हम इंतजार कर रहे हैं कि वे हमें बताएं कि वे क्या चाहते हैं, वे क्या करने का इरादा रखते हैं।
उन्होंने कहा, "इसलिए एक रचनात्मक बातचीत में शामिल होने की संभावना के लिए दरवाजा खुला है जो दो महीने से अधिक समय से यूक्रेन पर हमला करने वाले हथियारों को शांत करा देगा।"
हाल ही में उल्लिखित साक्षात्कार में, संत पापा फ्राँसिस ने विदेश मंत्री द्वारा क्रेमलिन को भेजे गए एक पत्र का भी उल्लेख किया, इस उम्मीद में कि रूसी राष्ट्रपति संवाद के लिए एक अवसर प्रदान करेंगे।
उस साक्षात्कार के बाद रूसी प्राधिधर्माध्यक्ष का एक नोट, 16 मार्च को संत पापा और प्राधिधर्माध्यक्ष किरिल के बीच एक वीडियो कॉल में इस्तेमाल किए गए "गलत लहजे" के रूप में माना जाता है।
लेकिन लहजों से परे कार्डिनल पारोलिन ने दोहराया, कि युद्ध द्वारा कमजोर किए गए अंतरराष्ट्रीय संतुलन के पुनर्निर्माण के लिए कोई कसर नहीं छोड़ने की इच्छा बनी हुई है: "दुनिया को शांति की जरूरत है, स्वस्थ रहने के लिए हमें शांति में सांस लेने की जरूरत है," जैसा कि संत पापा ने कुछ दिन पहले दोहराया, ताकि बंधुत्व की ताकत अंततः प्रबल हो सके।

Add new comment

1 + 0 =