सिनॉड ˸ आत्मपरख एवं निर्णय लेने पर मुफ्त ऑनलाईन कोर्स की एक श्रृंखला

काथलिक संस्थाओं का एक दल मुफ्त ऑनलाईन कोर्स देने की तैयारी कर रहा है ताकि कलीसिया में आत्मपरख एवं निर्णय लेने की क्षमता विकसित की जा सके, जो सिनॉडालिटी (कलीसिया का एक साथ चलना) पर धर्माध्यक्षीय धर्मसभा का हिस्सा है।
विश्वभर के काथलिक इस ऑनलाईन पाठ्यक्रम में भाग लेने के लिए आमंत्रित किये गये हैं जिसकी विषयवस्तु होगी, "कलीसिया में आम आत्मपरख एवं निर्णय लेना।"
यह पहल सिनॉडालिटी पर सिनॉड के हिस्से के रूप में किया गया है जो इस समय धर्मप्रांतीय स्तर पर जारी है और इसका समापन रोम में अक्टूबर 2023 को धर्माध्यक्षों की सभा के साथ होगा।
कोर्स सभी के लिए खुला है जो इसमें भाग लेना चाहते हैं और इसकी शुरूआत जुलाई में तीन सप्ताह के कोर्स के साथ होगी, जिसकी उम्मीद है करीब 1,00,000 लोगों को सिनॉडालिटी के ईशशास्त्र एवं अभ्यास का प्रशिक्षण प्रदान करना।
पाठ्यक्रम बोस्टन कॉलेज के स्कूल ऑफ थियोलॉजी एंड ऑनलाईन फोरमेशन मिनिस्ट्री के द्वारा जारी किया जाएगा। इसका आयोजन लातीनी अमरीका, यूरोप और एशिया के धर्माध्यक्षों के सम्मेलनों एवं लातीनी अमरीका के येसु समाजियों एवं विभिन्न धर्मसंघों के परमाधिकारियों के तत्वाधान में किया गया है।
एक प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार "सिनॉडालिटी पर सिनॉड" कलीसियाई जीवन में एक नया चरण प्रस्तुत करता है जो हमें बदलाव एवं सुधार की प्रक्रिया उत्पन्न करने का निमंत्रण दे रहा है ताकि इस तीसरी सहस्राब्दी के लिए एक सिनॉडल कलीसिया का निर्माण किया जा सके।
पहले पाठ्यक्रम में सम्मेलनों में गहन वार्ता की पेशकश की जायेगी और स्थानीय कलीसियाओं के विभिन्न प्रतिनिधियों के द्वारा साक्ष्य प्रस्तुत किये जायेंगे।
विज्ञप्ति में बतलाया गया है कि "सभी कोर्स मुफ्त में होंगे और विभिन्न भाषाओं – स्पनी, अंग्रेजी, पुर्तगाली, फ्रेंच और इताली में ऑनलाईन जारी किये जायेंगे। कोर्स के वाक्ता सभी महादेशों से होंगे तो हमें कलीसिया का वैश्विक एवं अंतर-सांस्कृतिक दर्शन प्रदान करेगा।"
प्रोफेसरों की लम्बी सूची में धर्माध्यक्षों के सिनॉड की उप-सचिव सिस्टर नथानाएल बेक्वार्ट भी शामिल हैं। 

Add new comment

2 + 0 =