आगमन का दूसरा रविवार मनाया गया।

दिनाँक 05/12/2021रविवार को विश्व काथलिक कलीसिया ने विश्वास और प्रेम की प्रतिक बेंगनी रंग की मोमबत्ती जलाकर आगमन का दूसरा रविवार मनाया। यह मोमबत्ती आमतौर पर प्यार और विश्वास का प्रतिनिधित्व करती है। इसे बेथलहम मोमबत्ती, या तैयारी की मोमबत्ती भी कहा जाता है।
1. रेडचर्च में अपने प्रवचन में फादर अंतोनी सामी ने कहा, ईश्वर दयालु है, वे हमारी समस्याओं को दूर करते हैं, ईश्वर क्षमाशील है, वे हमारे अपराधों को क्षमा करता हैं, ईश्वर प्रेमी पिता हैं जैसे वे हमें प्रेम करते हैं हमें भी प्रेमपूर्वक रहना चाहिए।
2. सेक्रेड हार्ट चर्च महू के श्री बासिल ने बताया कि फादर राजेश जामरा ने अपने प्रवचन में कहा मनुष्य जीवन उबड़खाबड़ रास्ते समान है। आगमन काल में हमें आपसी मनमुटाव दूर कर प्रेम पूर्वक रहना है यह भी क्रिसमस की तैयारी का एक हिस्सा है।
3. सेंट तेरेसा चर्च पुष्पनगर से श्री विन्सेंट गनावा ने बताया कि फादर प्रदीप चेरियन ने अपने प्रवचन में कहा मनुष्य को अपने स्वार्थी स्वभाव से उपर उठकर समाज की शान्ति के बारे में चिन्तन करना है। मानव जीवन में समस्याओं का आना भी जरुरी है, उसका हल खोजते समय मनुष्य एक दूसरे से प्रेम करना सीखते हैं।

Add new comment

12 + 7 =