अपना जीवन बदलो और बपतिस्मा ग्रहण करो।

आज के पाठ में पेत्रुस यहूदियों को संबोधन करते हैं 'अपना जीवन बदलो और बपतिस्मा ग्रहण करो।' उनका मानना है कि लोग अपना जीवन सुधारें। अंधकार में नहीं किन्तु प्रकाश का जीवन अपनायें। पेत्रुस की बात मान कर बहुतों ने विश्वास किया और उनके साथ सम्मिलित हुए। मरियम मगदलेना के बारे में यह सच है कि वह येसु को बहुत प्यार करती थी। वह हमेशा उन्हें अपने पास रखना चाहती थी जो संभव नहीं था। उनका प्यार बहुत ही गहरा था। एक माँ अपने छोटे बच्चे को अपने सीने से लगाती है, जब वह बड़ा होता है और माँ से दूर होता है तब भी उनके बीच प्यार का संबंध घटता नहीं पर और मजबूत होता है। कुछ इसी प्रकार मरियम मगदलेना का प्यार था। पुनर्जीवित ख्रीस्त उन्हें दर्शन दे कर खुशी का संदेश भाइयों को देने भेजते हैं।

Add new comment

7 + 5 =