स्केटिंग, जीवन में उत्साह एवं स्वतंत्रता प्रदान करता है

स्केटिंग करता एक खिलाड़ी

संत पापा फ्राँसिस ने बृहस्पतिवार, 13 जून को अंतरराष्ट्रीय स्केटिंग संघ के 32 प्रतिनिधियों से वाटिकन में मुलाकात की।

संत पापा फ्रांसिस ने अंतरराष्ट्रीय स्केटिंग संघ के सदस्यों को सम्बोधित करते हुए कहा कि संघ का उद्देश्य न केवल विश्व स्तर पर हिम स्केटिंग को बढ़ावा देना है, बल्कि अधिक से अधिक लोगों को इस खेल की सुन्दरता का अनुभव कराना भी है। उन्होंने कहा कि हर खेल में आनन्द की अभिव्यक्ति होती है, एक साथ होने के आनन्द की अभिव्यक्ति तथा सृष्टिकर्ता द्वारा मिले वरदानों के लिए खुशी मनाने का अनुभव। स्केटिंग, जीवन में उत्साह एवं स्वतंत्रता प्रदान करता है, साथ ही अनुशासन में बढ़ने, दल में कार्य करने एवं व्यक्तिगत क्षमताओं के विकास हेतु अवसर देता है।

संत पापा ने अंतरराष्ट्रीय स्केटिंग संघ के सदस्यों के प्रयासों को प्रोत्साहन दिया कि वे स्केटिंग करने के आनन्द की अभिव्यक्ति हेतु प्रतिस्पर्धी अवसरों को आयोजित करें। उन्होंने इस खेल के माध्यम से युवाओं को वृहद समुदाय में फलप्रद व्यक्ति के रूप में अधिक जिम्मेदार व्यक्ति बनाने हेतु प्रोत्साहन दिया। खेल में सीखे गए सम्मान, साहस, परोपकारिता, संतुलन और आत्म-नियंत्रण के मूल्य जीवन की भाग दौड़ में सफलता के लिए एक बहुमूल्य तैयारी है। खेल एक ऐसा शब्द है जिसके द्वारा मानवता की सेवा हमेशा की जा सकती है। संत पापा ने उपस्थित सभी सदस्यों एवं उनके परिवार वालों को अपना प्रेरितिक आशीर्वाद दिया।  

Add new comment

9 + 7 =

Please wait while the page is loading