संत पापा द्वारा अमरीकी धर्माध्यक्ष पर अनुशासनात्मक कार्रवाई

धर्माध्यक्ष मिखाएल ब्रान्सफिल्ड

संत पापा फ्राँसिस ने यौन दुराचार एवं आर्थिक कुप्रबंध के आरोप में जाँच के कारण, धर्माध्यक्ष मिखाएल ब्रान्सफिल्ड के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई किया है।

 संत पापा फ्राँसिस ने 13 सितम्बर 2018 को विलिंग चार्ल्सटन धर्मप्रांत के धर्माध्यक्ष मिखाएल का त्यागपत्र स्वीकार किया था और उन्होंने बल्तिमोर महाधर्मप्रांत के महाधर्माध्यक्ष विलियम ए. लोरी को विलिंग चार्ल्सटन धर्मप्रांत का प्रेरितिक प्रशासक नियुक्त किया था एवं उन्हें धर्माध्यक्ष मिखाएल के यौन दुराचार एवं आर्थिक कुप्रबंधन पर प्रारंभिक जाँच की जिम्मेदारी दी थी। 

जाँच के आधार पर संत पापा ने धर्माध्यक्ष ब्रान्सफिल्ड पर निम्नलिखित अनुशासनात्मक कार्रवाई की है-

1.      धर्माध्यक्ष ब्रान्सफिल्ड को विलिंग-चार्ल्सटन धर्मप्रांत में निवास करने पर निषेध।

2.      उनपर सभी सार्वजनिक धर्मविधिक समारोहों में भाग लेने पर निषेध लगाया गया है।

3.      उन्हें अपने द्वारा की गयी हानि की क्षतिपूर्ति करना है।

इन ठोस कदमों को उठाने हेतु संत पापा ने विलिंग–चार्ल्सटन धर्मप्रांत के याजकों, धर्मसमाजियों और लोकधर्मियों के प्रति अपनी सहानुभुति प्रकट की।

Add new comment

8 + 3 =

Please wait while the page is loading