श्रीलंका के बम पीड़तों के लिए संत पापा की संवेदना

संत पापा फ्राँसिस

उरबी एत ओरबी आशीर्वाद के अंत में, सत पापा फ्राँसिस श्रीलंका में "क्रूर हिंसा" के पीड़ितों के लिए प्रार्थना की और स्थानीय ख्रीस्तीय समुदाय के साथ अपनी निकटता व्यक्त की।

कल सुबह पास्का पर्व के दिन श्रीलंका के कुछ गिरजाघरों में हुए बम हमलों की दुःखद समाचार मिली। मैं क्रूर हिंसा के पीड़ितों को प्रभु को हाथों सौंपता हूँ। साथ ही श्रीलंका की काथलिक कलीसिया के प्रति अपना सामीप्य प्रकट करता हूँ। मैं घायल लोगों और उन सभी के लिए प्रार्थना करता हूँ जो इस नाटकीय घटना के कारण पीड़ित हैं।” ये बातें संत पापा फ्राँसिस ने संत पेत्रुस महागिरजा घर के मुख्य बालकनी से ‘उरबी एट ओरबी’ आशीर्वाद के अंत में कही।

छः बम आज सुबह श्रीलंका के तीन गिरजाघरों और होटलों में फट गया। बटियालियो में सियोन गिरजाघर में 27 की मौत, कोच्चीकेड में संत अंतोनी गिरजाघर में 160 लोग घायल और नेगोंबो में संत सेबेस्टियन गिरजाघर में 50 लोग मारे गये हैं, जहां ख्रीस्तीय पास्का पर्व मनाने के लिए एकत्र हुए थे। बम विस्फोट में प्रभावित होटल किंग्सबरी, शांगरी-ला और दालचीनी के भव्य होटल हैं।

Add new comment

1 + 5 =

Please wait while the page is loading