सेनेटाइजर

क्या सेनेटाइजर से हाथ धोने से सारे कीटाणु मर जाते हैं?आपने अपने टीवी पर देखा ही होगा की सेनेटाइजर से हाथ १० सेकंड में साफ़ हो जाते हैं और सारे कीटाणु मर जाते हैं। यह बात पूरी १०० प्रतिशत सच नहीं है।टीवी पर अलग-अलग सेनेटाइजर कंपनियों के ऐड देख कर लोगों में यह धारणा बन गयी हैकि सेनेटाइजर से हाथ धोने से हाथों के सारे कीटाणु मर जाते हैं। इसी वजह से लोग साबुन के बजाय सेनेटाइजर को ज्यादा प्राथमिकता देने लगे हैं। हैंड सेनेटाइजर काफी हद तक कीटाणुओं को मार देता है, लेकिन बीमार करने वाले कीटाणु जैसे क्रिप्टोस्पोरिडियम,नोरोवायरस और क्लोस्ट्रीडियम को पूरी तरह नहीं मार पाता है। यूनिवर्सिटी ऑफ मैरीलैंड,वाशिंगटन ने एक शोध में यह पता लगाया है कि साबुन,तरल साबुन और सेनेटाइजर में से कौन सबसे ज्यादा असरदार है। शोध में साबुन से २० सेकंड तक हाथ धोने वालों में कीटाणु नहीं मिले।सेनेटाइजर से भी काफी हद तक कीटाणु खत्म हुए जिसमे 60 प्रतिशत अल्कोहल मिला था।लेकिन जिन्होंने सेनेटाइजर से १० सेकंड तक हाथ धोये उनके हाथों में 50 प्रतिशत कीटाणु पाए गए। इससे यह पता लगा की साबुन सेनेटाइजर से बेहतर है। सेनेटाइजर में यह कमी है कि उसे लगाते ही कुछ सेकंड बाद वह उड़ जाता है और आपके हाथों में बनी रेखाओं में कीटाणु छिपे रह जाते हैं। इसलिए हाथ धोने के लिए साबुन को प्राथमिकता दें। अगर आप घर से बाहर हैं या ऑफिस में हैं और आपके पास साबुन-पानी नहीं है,तो आप सेनेटाइजर का इस्तेमाल कर सकते है लेकिन घर जाकर साबुन से हाथ जरूर धोए।

चार्ल्स सिंगोरिया

Add new comment

8 + 9 =

Please wait while the page is loading