सीएनआइ द्वारा संगरोध सुविधाओं को स्थापित करने में मदद

बैंग्लोर में एक व्यक्ति पुलिस को पानी पिलाते हुए
बैंग्लोर में एक व्यक्ति पुलिस को पानी पिलाते हुए

24 मार्च को चर्च ऑफ नॉर्थ इंडिया (सीएनआइ) ने राज्य सरकार को संगरोध सुविधाएं स्थापित करने के लिए अपने परिसर का हिस्सा देने का फैसला किया।
सीएनआइ कलीसिया राज्य सरकार को अस्थायी संगरोध सुविधाएं स्थापित करने के लिए अपने परिसर को देने के लिए तैयार है, अगर उन लोगों के लिए जगह की कमी है जिन्हें अलगाव में रखने की आवश्यकता है।" सीएनआई कोलकाता धर्मप्रांत के धर्माध्यक्ष माननीय परितोष कैनिंग ने मेट्रो को बताया। उन्होंने कहा कि बेहला में ऑक्सफोर्ड मिशन का परिसर या संत थॉमस चर्च स्कूल, हावड़ा - दोनों बड़े परिसरों को संगरोध सुविधाओं को स्थापित करने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। कोलकाता में और इसके बाहर भी चर्च के कई परिसर हैं जहाँ अस्थायी संगरोध सुविधाएं स्थापित किया जा सकता है। उन्होंने मंगलवार को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को एक पत्र लिखा जिसमें उनसे कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए चर्च को सरकार के साथ काम करने की अनुमति देने का अनुरोध किया गया था।

भारत लॉकडाउन
भारत के समाचार पत्रों अनुसार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए लॉकडाउन करने की घोषणा की। बुधवार से देश की 130 करोड़ की जनता तीन हफ्तों के लिए पूरी तरह से लॉकडाउन में रहेगी।

पीएम मोदी ने मंगलवार देश को संबोधित करते हुए कहा, "आज मध्य रात्रि से, पूरा देश लॉकडाउन होगा। भारत को, भारत के हर नागरिक को, आपको, आपके परिवार को बचाने के लिए... हर सड़क को बंद किया जा रहा है। अगले 21 दिन तक घर से निकलना भूल जाइये, "सोशल डिस्टेंसिंग कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए सबसे बड़ा और प्रभावी तरीका है। बहुत से लोग सोचते हैं कि सोशल डिस्टेंसिंग सिर्फ कोरोना के मरीजों के लिए है। यह गलत है। सोशल डिस्टेंसिंग सभी के लिए है। यहां तक की प्रधानमंत्री के लिए भी।"

देश में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले बढ़कर बुधवार को 631 हो गए जबकि मृतकों  की संख्या 15 है।
 

Add new comment

8 + 11 =

Please wait while the page is loading