मुझे ईश्वर ने दूसरी जिंदगी दी है

रानू मारिया मंडल और उनकी की बेटी साती रॉय

"मुझे ईश्वर ने दूसरी जिंदगी दी है और मैं अब इसे बेहतर से बेहतर बनाने की कोशिश करूंगी।"
पिछले कुछ दिनों से सोशल मीडिया पर रानू मारिया मंडल की खबरें एवं उसका विडियो सुर्खियां बटोर रहा है। सफलता और शौहरत के इस सफर के साथ ही इस खबर का दूसरा पहलु भी है। कुछ दिन पहले रानू मंडल दो वक्त की रोटी को मोहताज थी। हर कोई जानने के लिए उत्सुक हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं उनकी खुद की बेटी ने रानू मारिया मंडल को बेसहारा छोड़ दिया था। दोनों माँ-बेटी 10 साल से अलग रह रहे थे और रानू मारिया मंडल ने अपनी बेटी का चेहरा तक पिछले दस वर्षों से नहीं देखा था , लेकिन जैसे ही रानू का वीडियो वायरल हुआ और इनको फिल्मों में गाने का मौका मिला तुरंत ही उनकी बेटी के मन में मां का प्यार जाग उठा और वह तुरंत उनसे मिलने पहुंची ।

रानू मारिया मंडल की बेटी साती रॉय का तलाक हो चुका है और उसका एक बेटा है। वे किराना दुकान चला रही हैं। लोग भले ही रानू मारिया मंडल की बेटी साती रॉय को ताना मार रहे हैं कि दौलत और शोहरत के कारण ही वह अपनी मां के पास वापस लौट आई है, लेकिन अतिन्द्र ने इस बारे में लिखा है कि- "आज मैं वास्तव में खुश हूं, केवल भगवान ही जानता है कि मैं क्यों खुश हूँ, पैसा जीवन में कोई बड़ी बात नहीं है। मेरे एक वीडियो के कारण रानू आज अपनी बेटी को वापस मिल रही है।"
आपकी जानकारी के लिए बता दें कि भले ही 10 साल रानू मंडल की बेटी ने उनको बेसहारा छोड़ दिया, लेकिन फिर भी रानू ने मां की ममता दिखाई है और वह अपनी बेटी के आ जाने से खुशी से फूले नहीं समा रही है उन्होंने एक इंटरव्यू के दौरान बताया कि, 'मुझे ईश्वर ने दूसरी जिंदगी दी है और मैं अब इसे बेहतर से बेहतर बनाने की कोशिश करूंगी'।
रानू मारिया मंडल कोलकाता के रेलवे स्टेशन पर लता मंगेशकर का गाना 'एक प्यार का नगमा है' गा रही थी जिसका वीडियो एक व्यक्ति ने लेकर सोशल मीडिया पर अपलोड कर दिया। बाद में यह व्हाट्सएप, फेसबुक, इंस्टाग्राम के जरिए आग की तरह फैल गया । बाद में इनको हिमेश रेशमिया ने फिल्मों गाने का मौका दिया और इसी कारण वह रातों रात स्टार बन गयी। कुछ भी हो मगर सोशल मीडिया की सहायता से आज एक माँ को उसकी बेटी वापस मिल गयी है।

Add new comment

4 + 0 =

Please wait while the page is loading